मेन्यू के लिए ऊपर मैरून स्ट्रिप को टैप करें

अपनी सभी पोस्ट्स देखने के लिए अपने नाम पर टैप करें। किसी अन्य सदस्य की पोस्ट्स देखने के लिए Members पर टैप कर के उस सदस्य के नाम पर टैप करें।

कृपया स्माइली का प्रयोग न करें

दैनिक आयोजनों की पोस्ट के लिए आपको 7 दिन मिलते हैं यानी जब तक उस दिन के लिए अगला प्रोग्राम न दे दिया तब तक। इस तरह आप प्रतिदिन हर प्रोग्राम की रचना पोस्ट कर सकते हैं



गज़ल

Blogs ग़ज़ल (118)

याद करते भी नहीं और न भुलाया जाए
रूठ जाएं तो उन्हें कैसे मनाया जाए

एक मुद्दत से निगाहों में बसी है सूरत
फिर कहाँ कोई नया ख्र्वाब बसाया जाए

आइना है कि तलब करता है पहली सूरत
वक़्त ठहरे तो वही अक्स दिखाया जाए

लाश…

Read more…
मशहूर क्या हुए कि वो मग़़रूर हो गये
अपनों से और ख़ुद सेबहुत दूर हो गये
 
जो ज़ख़्म दिये आपने रक्खे सम्हाल के 
गुज़रा जो वक़्त आख़िरश नासूर हो गये
 
कोशिश हजार की कि सम्हल जाए…
Read more…

भाई को भाइयों से लड़ाया न कीजिए
दीवार आँगनों में उठाया न कीजिए
---------------------------------------------------
सम्मान जिस जगह न करे आपका कोई
ऐसी जगह तो भूल के जाया न कीजिए…

Read more…

शम्स था जोकि

शम्स था जोकि सरपर खड़ा होगया
मेरा साया कहीं गुमशुदा होगया

एक रिश्ता था वोभी फ़ना होगया
उसको कुर्सी मिलीतो ख़ुदा होगया

तीरगी का असर इन्तिहा होगया
मेरा साया भी मुझसे जुदा होगया

उसने मेरी हक़ीक़त जता दी मुझे
यूँ…

Read more…

जब अंधेरे को

जब अँधेरे को बेहद गुमाँ होगया
एक जुगुनू से आलम रवाँ होगया

लौट आये वहीं, थे जहाँ से चले
उम्र-भर का सफर रायगाँ होगया

हम चले,तुम चले,ये चले,वो चले
एक मंज़िल थी सो कारवाँ होगया

दबगया,बोझ इतना था अहसान का
एक दिन…

Read more…

ग़ज़ल -कुबूल है

1212 1212 1212 1212

शराब जब छलक पड़ी तो मयकशी कुबूल है ।
ऐ रिन्द मैकदे को तेरी तिश्नगी कुबूल है ।

नजर झुकी झुकी सी है हया की है ये इंतिहा ।
लबों पे जुम्बिशें लिए ये बेख़ुदी कुबूल है ।।

गुनाह आंख कर न दे हटा न इस तरह…

Read more…

बेबसी


तोड़ देती है सभी को कैसे हाए बेबसी
अश्क़ सब के ये बहाए दिल जलाए बेबसी

सरहदों पर लड़ रहे हैं जो वतन के वास्ते
फ़िक्र बनकर उनकी माँओं को जगाए बेबसी

यार जब से छोड़ कर तन्हा गया मुझको यहाँ
हिज्र के गुल बाग में हर दिन…

Read more…

मेरे जैसा एक मैं हूं दूसरा कोई नहीं
सब हक़ीक़त जानते हैं मानता कोई नहीं

एक मुद्दत बाद देखा आइना तो यूँ लगा
ग़ालिबन ये शख़्स मैं हूँ दूसरा कोई नहीं

ज़िन्दगी ने गुल खिलाए और बूढ़ा करदिया
सब नज़र के सामने है देखता कोई…

Read more…

बदन पर अब थकन तारी बहुत है,
ज़ईफ़ी  है,  तो     दुश्वारी  बहुत है।

मरज़ का म्यूज़ियम है जिस्म अब ये,
फ़ना  हों,   एक   बीमारी  बहुत   है।

जलाने  के   लिये   बस्ती  मुक़म्मल,
घृणा   की  एक  चिंगारी   बहुत  है।

वफ़ा  के …

Read more…

tues day pgm

ग़ज़ल

जाम से रग़बत न रक्खें, तर्क मयखा़री करें।
यूँ अदा साकी़ से हम रस्म ए वफा़दारी करें।।

शमअ की लौ थरथरा के हो गयी खु़द ही धुआँ।
अब अंधेरे जब तलक जी चाहे सरदारी करें।।

वक़्त, मुमकिन है, बदल दे ये निजाम ए…

Read more…

हक़ीक़त हो गयी उसको पता तो
हुआ वो बेसबब हमसे ख़फ़ा तो

अँधेरे में कोई ग़फ़लत न करना
वहाँ भी देखता होगा ख़ुदा तो

ज़रा- सा खोलकर रखना दरीचे
इधर आयी अगर बादे -सबा तो

सुलह का रास्ता मालूम तो है
नहीं माना किसी ने…

Read more…

रुस्वा तुझे किया ही नहीं तेरे शह्र में
मैं तो कभी गया ही नहीं तेरे शह्र में

सुनते थे तेरे शह्र का पानी ख़राब है
सुनते हैं अब हवा ही नहीं तेरे शह्र में

बस तख़्तियों पे कागजा़ें पे नाम हैं लिखे
चेहरों का कुछ पता ही नहीं…

Read more…

ग़ज़ल

ग़ज़ल


है कैसा जुनूँ, वहशत है ये क्या, कुछ इसका सबब मालूम नहीं।
आँखों से बयाँ क्या होता है, क्या कहते हैं लब मालूम नहीं।।

 

ये बन्दे ग़रज़ के एहले हवस, क्या जाने वफ़ा के मतलब को।
जिस्मों से लगावट रखते हैं,…

Read more…

मेरे जैसा एक मैं हूं दूसरा कोई नहीं
सब हक़ीक़त जानते हैं मानता कोई नहीं

एक मुद्दत बाद देखा आइना तो यूँ लगा
ग़ालिबन ये शख़्स मैं हूँ दूसरा कोई नहीं

ज़िन्दगी ने गुल खिलाए और बूढ़ा करदिया
सब नज़र के सामने है देखता कोई…

Read more…

ग़ज़ल

ग़म से आरास्ता हूं मुस्कुराता हूं
तुम से आराम दिल का पाता हूं

सब्रो वाजिद पे है ये दीवाना
रुक्ने आहंग यूं निभाता हूं

सोज़ है और जुनूं के क़ाएद हैं
इस क़दर गीत गुनगुनाता हूं

तुम से नाराज़ हूं ये सच है पर
तेरी…

Read more…

मेरी उपस्थिति

झील का का मन्ज़र है साकित, बुलबुला कोई नहीं।

उसके एहसासात का अब आसरा कई नहीं

दीन ओ दुनिया का पता है और न है अपनी ख़बर।
इश्क़ से बढ़ कर जहाँ में सानेहा कोई नहीं।।

खुदकुशी करने की हमने खु़द ज़मीं…

Read more…
RSS
Email me when there are new items in this category –

प्रयागराज - लखनऊ - कानपुर - नोएडा - नई दिल्ली - चंदौसी - मेरठ - साँईखेड़ा - इंदौर - भोपाल - जयपुर - आगरा