दिए गए काफ़िये पर अशआर या पूरी ग़ज़ल कहें।

गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दें।

आज के लिए क़ाफ़िया अलिफ़ "आ" की क़ैद वाले।

अगर हे के क़वाफ़ी लें तो मतले में उसका प्राविधान कर लें।

बह्र और रदीफ़ आप ख़ुद चुनें।

अगले प्रोग्राम की घोषणा होने तक आप इस क़ाफ़िये पर पोस्ट कर सकते हैं। टेक्स्ट बॉक्स के नीचे कैटेगरी चुनना अनिवार्य है।


दिए गए क़ाफ़िये पर .... प्लस(+) के निशान पर क्लिक करके पोस्ट करें

Replies

This reply was deleted.

प्रयागराज - लखनऊ - कानपुर - नोएडा - नई दिल्ली - चंदौसी - मेरठ - साँईखेड़ा - इंदौर - भोपाल - जयपुर - आगरा